image_print
साहित्यिक पत्रिका सरस्वती मञ्जूषा का शुभारंभ!
(रचनाएँ आमंत्रित)
सार्थक लेखन हेतु सभी लेखकगण को शुभकामनाएं!
वर्जिन साहित्यपीठ इस वर्ष साहित्यिक पत्रिका सरस्वती मञ्जूषा का शुभारंभ कर रही है, जिसमें आप सभी का सहयोग अपेक्षित है। आप अपनी रचनाएँ virginsahityapeeth@gmail.com पर भेज सकते हैं। रचनाएँ कृपया मंगल/यूनिकोड फॉन्ट में ही भेजें।
समय सीमा: प्रथम अंक हेतु अपनी रचनाएँ 28 फरवरी, 2019 तक भेज दीजिए। इसके बाद आप दूसरे अंक हेतु भी रचनाएँ भेज सकते हैं।
प्रथम अंक का लोकार्पण अप्रैल, 2019 में किया जाएगा। यह पत्रिका प्रिंट और ईबुक दोनों रूपों में प्रकाशित होगी।
यह पत्रिका अमेज़न और गूगल के अतिरिक्त विभिन्न महत्वपूर्ण अंतरराष्ट्रीय डिजिटल लाईब्रेरियों में भी उपलब्ध रहेगी।
त्रैमासिक साहित्यिक पत्रिका सरस्वती मञ्जूषा के प्रथम अंक हेतु निम्नलिखित विधाओं में रचनाएँ आमंत्रित हैं:
1 साक्षात्कार
2 समसामयिक एवं साहित्यिक विषयों  पर आलेख
3 संस्मरण
4 पुस्तक समीक्षा
5 काव्य
6 कहानी
7 लघुकथा
8 बाल कविताएँ एवं कहानियाँ
9 अनुवादित साहित्य
10 हाशिये से (हाशिये पर खड़े मुख्यधारा के लेखक अथवा रचनाएँ)
11 देवनागरी में लिखी जाने वाली अन्य भाषाओं की रचनाएं (जैसे मैथिली, भोजपुरी इत्यादि)
12 साहित्यिक गतिविधियाँ
यदि इस सूची से इतर भी आपके पास कुछ है, तो उसका भी स्वागत है। यदि आप भी वर्जिन साहित्यपीठ के अभियान में कदम से कदम मिलाकर चलना चाहते हैं तो आपका स्वागत है।
अधिक जानकारी अथवा चर्चा हेतु संपर्क करें:
वर्जिन साहित्यपीठ
9971275250
(समय: शाम 6.30 के बाद कभी भी)
image_print
0 0 votes
Article Rating

Please share your Post !

Shares
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments